हिसार

आदमपुर नगरपालिका भाजपा नेता के भ्रष्टाचार के आरोपों से तिलमिलाई, दिया नोटिस

आदमपुर,
भाजपा नेता मुनीश ऐलावादी द्वारा आदमपुर नगरपालिका में एनडीसी में भ्रष्टाचार को लेकर उठाएं गए मामले की गूंज अब चंडीगढ़ तक पहुंच गई है। विभाग के महानिदेशक डा. यशपाल ने आदमपुर नगरपालिका से पिछले 6 माह में हुई रजिस्ट्रियों के लिए जारी की गई एनडीसी की डिटेल मांगी है। वहीं अब आदमपुर नगरपालिका के सचिव ने नोटिस जारी करके भाजपा नेता मुनीश ऐलावादी से एनडीसी में भ्रष्टाचार के आरोप पर सबूत मांगे हैं।

इस बारे में मुनीश ऐलावादी ने आदमपुर की जनता से अपील की है कि जो भी एनडीसी में भ्रष्टाचार का शिकार हुआ है, वह खुलकर सामने आए और भ्रष्टाचार पर नकेल लगाने में सहयोग करे। मामले की जानकारी देते हुए भाजपा नेता ने बताया कि आदमपुर नगरपालिका बनने के बाद लंबे समय तक जमीन—जयदाद की रजिस्ट्रियां बंद पड़ी थी। इसको लेकर वे महानिदेशक डा.यशपाल से मिले। वहां जाने पर पता चला कि आदमपुर के जवाहर नगर का मात्र कुछ क्षेत्र को लाल डोरा दिखाया गाया था। जबकि 1960 से आदमपुर के करीब 47 एकड़ जमीन पर लाल डोरा स्थित है।

नगरपालिका के इस नक्शे पर मुनीश ऐलावादी ने ऐतराज उठाया तो महानिदेशक डा. यशपाल ने तुरंत विभाग के एमई सुमित चोपड़ा व जेई प्रवीण कुमार से इस बारे में पूछा। उन्होंने दोबारा से नया नक्शा तैयार किया। लेकिन इस पर कमीश्नर व सचिव के हस्ताक्षर न होने के कारण इसे संबंधित अधिकारियों के पास भेज दिया गया। लेकिन उस दौरान महानिदेशक डा. यशपाल ने आदमपुर की बंद पड़े रजिस्ट्रियों के काम को आरंभ करने के निर्देश दे दिए। इसके चलते रजिस्ट्रियां होनी शुरु हो गई।

मुनीश ऐलावादी का कहना है कि रजिस्ट्रियां शुरु होते ही अनअप्रव्ड कॉलोनियों को लेकर एनडीसी में रिश्वत का खेल आरंभ होने की चर्चाएं चल पड़ी। लोगों ने आकर नगरपालिका के कर्मचारियों की शिकायतें करनी आरंभ कर दी। इस पर मुनीश ऐलावादी ने 3 अक्टूबर को सोशल मीडिया में मैसेज डालकर लोगों से अपील की थी कि वे रिश्वत मांगने वाले कर्मचारी या दलाल के बारे में गुप्त रुप से प्रमाण सहित अवगत करवाएं। इस बारे में उन्होंने विभाग के उच्चाधिकारियों को भी अवगत करवाया।

इस बारे में विभाग के महानिदेशक डा.यशपाल ने 26 अक्टूबर को मुनीश ऐलावादी व आदमपुर नगरपालिका के एमई को चंडीगढ़ बुलाया था। मुनीश ऐलावादी ने बताया कि नगरपालिका के एमई के स्थान पर लिपिक राजकुमार व दीपक सांवक उपस्थित हुए। इस दौरान उन्होंने फिर से नक्शे को दुरस्त करने व एनडीसी का मामला उठाया तो दोनों लिपिकों ने नए नक्शे के लिए महानिदेशक से समय मांगा। वहीं एनडीसी मामले पर संतुष्टिपूर्ण जवाब न मिलने पर महानिदेशक डा.यशपाल ने पिछले 6 माह के दौरान जारी की गई एनडीसी की रिपोर्ट तलब कर ली।

मुनीश ऐलावादी ने बताया इससे तिलमिलाकर आदमपुर नगरपालिका के सचिव ने उनको नोटिस जारी किया है। सचिव ने अपने नोटिस में एनडीसी में भ्रष्टाचार के साबूत व गवाह मांगे हैं। ऐसे में भाजपा नेता ने आमजन से अपील की है कि जिन भी लोगों ने एनडीसी के लिए किसी भी कर्मचारी या दलाल को पैसे दिए है वे अपनी गवाही देने के लिए आगे आएं। इस मामले को जल्द ही मुख्यमंत्री तक ले जाया जायेगा और पूरे मामले की विजिलेंस से जांच की मांग की जाएगी। ताकि आदमपुर से भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त किया जा सके।


https://youtu.be/vaoKNN8hUrY

Related posts

भाजपा ​के राज में धरतीपुत्रों के साथ हो रही है बेइंसाफी—सम्पत सिंह

क्लेम व जुर्माना न भरने पर जमीन होगी नीलाम

Jeewan Aadhar Editor Desk

केजरीवाल की रैली के लिए आप कार्यकर्ताओं ने झोंकी ताकत