हिसार

आदमपुर बना बिहार, बिना डिग्री के चलता मिला अस्पताल


आदमपुर,

आदमपुर में बिना किसी लाईसेंस और डिग्री के चल रहे एक अस्पताल पर मुख्यमंत्री उड़नदस्ते ने उपनिरीक्षक चंद्रभान एवं डॉ. हर्ष नारंग चिकित्सा अधिकारी पी.एच.सी. लाडवा व स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम के साथ मिलकर मण्डी आदमपुर स्थित सूर्या क्लीनिक एवं जनरल सेवाएं का औचक निरीक्षण किया।

इस दौरान उक्त क्लीनिक में ढ़ाणी मोहब्बतपुर निवासी सतीश कुमार मौके पर डॉक्टर के रूप में मरीजों का इलाज करता हुआ मिला। सतीश कुमार के पास एम.पी.एच.डब्ल्यू. का डिप्लोमा है। पूछताछ में पता चला कि इस क्लीनिक को डॉक्टर राजन ठकराल एम.बी.बी.एस. के नाम से सतीश कुमार चलाता है। इसकी एवज में सतीश कुमार डॉ. राजन ठकराल को 5 हजार रूपये प्रतिमाह देता है। क्लीनिक का किराया 35 हजार रूपये सालाना सतीश कुमार ही दुकान मालिक को अदा करता है।

निरीक्षण के दौरान क्लीनिक में काफी मात्रा में 34 प्रकार की विभिन्न दवाईयां तथा विभिन्न प्रकार के मैडिकल उपकरण जैसे स्थैस्कोप, थर्मामीटर, बी.पी. ऑप्रेटिश, सीरिंज कटर, नैबुलाईजर, कैंची आदि मिले हैं। सतीश कुमार उक्त डाक्टर के रूप में कार्य करने बारे अपनी मैडिकल डिग्री/लाईसैंस तथा एलोपैथिक दवाईयां रखने बारे कोई लाईसैंस/दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर सका।

उपरोक्त संयुक्त टीम द्वारा निरीक्षण के दौरान स्पॉट मैमो तैयार किया गया। उपरोक्त 34 प्रकार की दवाईयों तथा 06 प्रकार के मैडिकल उपकरणों को सील करके तथा आरोपी सतीश कुमार को स्थानीय पुलिस के हवाले दिया।

इस सम्बन्ध में हर्ष नारंग चिकित्सा अधिकारी उक्त की शिकायत पर स्थानीय पुलिस द्वारा अभियोग अंकित करने की कार्यवाही की जा रही है।

Related posts

आदमपुर नागरिक अस्पताल का रास्ता बंद करने से मरीजों को परेशानी

गांव खानक के छोरे 19 वर्षीय मोहित बिश्नोई ने किलीमंजारो पर फहराया तिरंगा

Jeewan Aadhar Editor Desk

एचएयू के बाहरी केंद्रों पर वैक्सीनेशन कैंप शुरू, किसानों को वैक्सीन के प्रति किया जा रहा जागरूक